आज के दौर में स्मार्ट Phone के बिना ज़िन्दगी को सोचा भी नहीं जा सकता है| स्मार्ट फ़ोन के बिना आज के दौर की कल्पना करना संभव नहीं है आज कल तो हर काम स्मार्ट फ़ोन से हो रहे है|आज के लाइफ स्टाइल में स्मार्ट फ़ोन लोगों की ज़िन्दगी का एक बहुत अहम हिस्सा बन गया है| आज के दौर के लोगों के लिए स्मार्ट फ़ोन इतना इम्पोर्टेन्ट  हो गया है के इसके बिना रहना लोगों को बहुत मुश्किल लगता है|

स्मार्ट फ़ोन

लेकिन क्या आपको पता है के स्मार्ट फ़ोन के फ़ायदों के साथ साथ इसके बहुत से नुक़सानात भी है| हमारे हेल्थ पे इसका बहुत बुरा असर परता है| दिन भर फ़ोन से चिपके रहना हमारे सेहत के लिए हानिकारक हो सकता है, पर क्या आपको पता है के ये हमारे स्वाभाव के साथ साथ दिमाग़ पे भी बहुत गहरा असर डालता है| एक शोध में आया है के अगर आप दिन भर मोबाइल से जुड़े रहते है तो ये आपके दिमाग के लिए ख़तरनाक साबित हो सकता है|

दिन भर में ज़्यादा से ज़्यादा टाइम फ़ोन के साथ बीताने से आपको ब्रेन Tumor का ख़तरा तीन गुणा ज़्यादा हो जाता है| फ्रांस की एक यूनिवर्सिटी ने अपने शोध में बताया है के फ़ोन पे ज़्यादा बात करने वाले लगों को इस समस्या में गरस्थ होने के चांसेस बहुत ज़्यादा होते है|

शोधकर्ताओं ने अपनी स्टडी में पाया है के इस बीमारी में ग्रस्थ लोगों में अधिकतर लोग महीने में एप्रोक्स 15 घंटों से ज़्यादा अपना वक़्त फ़ोन पे बात कर के ही बिताते थे|

एक और शोध के मुताबिक़ फ़ोन के ज्यादा इस्तेमाल से लोगों में यादाश्त की कमी का भी खतरा बढ़ जाता है| Digital Amnesia एक स्मार्ट फ़ोन मेमोरी Disease है जो लोगों में ज़्यादा phone का इस्तेमाल करने की वजह से पाया जाता है|

हाल के ही एक सर्वे के मुताबिक़ जो एक साइबर सिक्यूरिटी कंपनी Kaspersky Lab के द्वारा की गयी थी जिसमे 1000 में 44% लोग जो 16 साल से 56 साल के बिच के थे जिसमे उन्होंने पाया के अधिकतर लोगों फ़ोन का एडिक्शन है|

इस एकनॉलेजमेंट के तहत जब मेमोरी इशू वाले पेशेंट का सर्वे किया गया तब ये पता चला के जो छोटी उम्र के लोग भी थे वो भी स्मार्ट फ़ोन के एडिक्टेड थे|ये स्मार्ट फ़ोन का एडिक्शन जो के हमारे ब्रेन को इनाम की फीलिंग देता है| जिसकी वजह से ये ब्रेन को उस काम की तरफ आने के लिए बार बार उकसाता है|

इसके अलावा स्मार्ट फ़ोन का ज़्यादा यूज़ हमारे नींद को परभावित करता है| आज कल लोगों की आदत है के बिस्तर पे जाने के बाद भी घंटो मोबाइल का यूज़ करते है| लेकिन क्या आप जानते है के बिस्तर पे जाने के बाद भी मोबाइल का यूज़ करना आपकी नींद के लिए कितना हानिकारक है| रात के वक़्त जब हम फ़ोन का इस्तेमाल करते है तो फ़ोन से निकलने वाली रेज़ की वजह से हमारे बॉडी से मेलाटोनिन नाम का एक पदार्थ निकालने वाली हर्मोन जो के हमारी नींद लाने में मदद करता है वो परभावित होता है|

इन तमाम समस्याओ के साथ साथ और भी बहुत से ऐसे समस्याएं है जो हमारे फ़ोन इस्तमाल करने की अदत की वजह से होते है| इसलिए हमें अपनी सेहत की चिंता करते हुए स्मार्ट फ़ोन के Unnecessary यूज़ को थोरा कम करना चाहए take हम एक Healthy और हैप्पी लाइफ स्पेंड कर सकें|