Interrupt प्रोसेसर को भेजी गई सिग्नल है जो Current Work में बाधा डालती है। यह किसी हार्डवेयर डिवाइस या सॉफ़्टवेयर प्रोग्राम के द्वारा Generate किया जा सकता है। 

Interrupt ऑपरेटिंग सिस्टम का एक फंक्शन है, जो Multi Process और Multi Tasking प्रोवाइड करता है। इंटरप्ट एक सिग्नल है जो ऑपरेटिंग सिस्टम को एक Work पर काम रोकने और दूसरे पर काम शुरू करने के लिए प्रमोट करता है।

Interrupt के Types

दुसरे सिग्नल की Comparison में इंटरप्ट की Priority Highest है। Basically इंटरप्ट के दो Types होते है
    1. हार्डवेयर Interrupt

 

  1. सॉफ्टवेयर Interrupt

हार्डवेयर Interrupt

एक हार्डवेयर Interrupt अक्सर एक Input डिवाइस जैसे Mouse या Keyboard द्वारा क्रिएट किया जाता है। उदाहरण के लिए अगर आप एक वर्ड प्रोसेसर का उपयोग कर रहे हैं और एक Key प्रेस करते हैं, तो प्रोग्राम को तुरंत इनपुट को प्रोसेस करना होता है। ‘Yellow’ टाइप करना पांच इंटरप्ट Request क्रिएट करता है। इसी तरह, हर बार जब आप माउस बटन पर क्लिक करते हैं या टचस्क्रीन पर टैप करते हैं, तो आप डिवाइस पर एक Interrupt सिग्नल भेजते हैं।

एक इंटरप्ट प्रोसेसर को इंटरप्ट Request या IRQ के तौर पे भेजा जाता है। हर इनपुट डिवाइस में एक Unique IRQ सेटिंग या Priority होती है।ये कंफ्लिक्ट को प्रिवेंट करता है और Insure करता है के कॉमन इनपुट Devices जैसे Keyboard और Mouse को prioritize करत है।

सॉफ्टवेयर Interrupt

सॉफ़्टवेयर इंटरप्ट का यूज़  प्रोग्राम के चलने के दौरान होने वाली Errors और Conflicts को संभालने के लिए किया जाता है। उदाहरण के लिए अगर कोई Program किसी वेरिएबल को वैलिड नंबर एक्स्पेक्ट करता है, लेकिन  वो वैलिड नहीं है तो Program को क्रेश होने से बचाने के लिए एक इंटरप्ट Generate हो सकता है।

 

यह प्रोग्राम को कोर्स बदलने और जारी रखने से पहले Error को संभालने की परमिशन देता है। इसी तरह, एक Infinite लूप को तोड़ने के लिए Interrupt का यूज़ किया जा सकता है, जो के मेमोरी लीक क्रिएट कर सकता है या किसी प्रोग्राम को Unresponsive बना सकता है।

 

हार्डवेयर और सॉफ़्टवेयर इंटरप्ट दोनों को एक इंटरप्ट हैंडलर के द्वारा प्रोसेस किया जाता है, जिसे इंटरप्ट सर्विस रूटीन या आईएसआर भी कहा जाता है।